प्रथमं नैमिषं पुण्यं चक्रतीर्थं च पुष्करम् ।
अन्येषां चैव तीर्थानां सङ्ख्या नास्ति महीतले ।।

नैमिषारण्य - एक पवित्र स्थल

नैमिषारण्य सतयुग का तीर्थ है, जो अति पावन है। इसके दर्शन मात्र से लोगों के पाप नष्ट हो जाते हैं और यह मोक्ष एवं सिद्धियों को प्रदान करने वाला है जिसका प्रमाण विमिन्न वैदिक एवं पौराणिक धर्म ग्रन्थों में मिलता है।
अधिक जाने